Aquaboutic | Focus Security Research | Vulnerability Exploit | POC

Home

अयोध्या / अनुच्छेद 142 क्या है, सुप्रीम कोर्ट ने

Posted by muschett at 2020-02-14
all

Dainik Bhaskar.

New 09, 2019, 09:10 PM IST

नई दिल्ली.सुप्रीम कोर्ट नेशनिवार को अपने फैसले में अयोध्या में 2.77 एकड़ विवादित जमीन पर मंदिर बनाने के लिए उसे ट्रस्ट को सौंपने का आदेश दिया। कोर्ट ने मुस्लिम पक्ष को मस्जिद बनाने के लिए 5 एकड़ जमीन देने का आदेश भी दिया। अदालत ने इस मामले में पक्षकार निर्मोही अखाड़े का दावा खारिज कर दिया, लेकिन उसे मंदिर निर्माण के लिए बनने वाले ट्रस्ट में शामिल करने को कहा है। इसके लिए कोर्ट ने अनुच्छेद 142 का इस्तेमाल किया। संविधान में सुप्रीम कोर्ट को अनुच्छेद 142 के रूप में खास शक्ति प्रदान की है, जिसके तहत किसी व्यक्ति को पूर्ण न्याय देने के लिए कोर्ट जरूरी निर्देश दे सकता है।

अयोध्या की विवादित जमीन पर निर्मोही अखाड़ा कीदावेदारी खारिज करने के बाद कोर्टने विशिष्ट शक्तियों के तौर पर अनुच्छेद 142 का इस्तेमाल किया। 5 जजों की बेंच ने कहा- विवादित जमीन से कई सालों के जुड़ाव और निर्मोही अखाड़े की सक्रिय भूमिका को देखते हुए उसे उचित प्रतिनिधित्व दिया जाना चाहिए। मंदिर निर्माण के लिए बनाए जाने वाले नए ट्रस्ट में उसे जगह दी जानी चाहिए। शीर्ष अदालत ने 2017 में भी इसी अनुच्छेद का इस्तेमाल कर बाबरी विध्वंस केस को रायबरेली से लखनऊ कोर्ट ट्रांसफर किया था।

अनुच्छेद 142 और इसका इस्तेमाल कैसे होता है?